ग्रामीण समाज विकास केंद्र ने 10 टीबी से पीड़ित बच्चों को गोद लिया – अलग पहचान

अलग पहचान

Latest Online Breaking News

ग्रामीण समाज विकास केंद्र ने 10 टीबी से पीड़ित बच्चों को गोद लिया

😊 Please Share This News 😊

 

ग्रामीण समाज विकास केंद्र ने 10 टीबी से पीड़ित बच्चों को गोद लिया

संस्था पहले भी 10 बच्चे ले चुकी गोद, अब 20 बच्चों को देगी पोषण सामग्री

उपचार जारी रहने तक देखरेख और पोषाहार उपलब्ध कराने की जिम्मेदारी ली

मेरठ, 06 मई, 2022। “ग्रामीण समाज विकास केंद्र” नामक संस्था ने 10 क्षय रोग से पीड़ित बच्चों को गोद लेने की घोषणा के साथ ही उपचार जारी रहने तक उनकी देखरेख करने और पोषाहार उपलब्ध कराने की जिम्मेदारी ली। बता दें कि इससे पहले भी संस्था द्वारा 10 टीबी से पीड़ित बच्चों को गेद लिया गया था, जिनके लिए पोषण सामग्री दी जा रही है। जिसके बाद संस्था अब 20 बच्चों को प्रति माह पोषण सामग्री वितरित करेगी। इस संबंध में जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ. गुलशन राय ने “ग्रामीण समाज विकास केंद्र” की कार्यशैली की प्रशंसा करते हुए क्षय से पीड़ित बच्चों को गोद लेने के संस्था के निर्णय की सराहना की।

 

“ग्रामीण समाज विकास केंद्र” के सचिव मेहर चंद ने बताया कि उनकी संस्था महिलाओं व बच्चों के उत्थान को लेकर निरंतर सक्रिय रहती है, इसी क्रम में एक कदम और आगे बढ़ाते हुए टीबी पीड़ित बच्चों को गोद लेने का निर्णय लिया, ताकि उनकी देखभाल करते हुए सही समय पर दवाई तथा पुष्टाहार देकर उनका आत्मबल बढाने के साथ-साथ टीबी के खिलाफ उनकी लड़ाई को मजबूत किया जा सके और एक दिन टीबी को मात देकर वे भी स्वस्थ जीवन जी सकें। संस्था की ओर से अभी 10 क्षय रोग से पीड़ित बच्चों को उनके रोग के इलाज की आवश्यकता अनुसार पुष्टाहार किट दी जा रही है। पुष्टाहार किट में भुना हुआ चना, दलिया, सोयाबीन और मूंगफली की गिरी उपलब्ध कराई जा रही है। मेहर चंद ने आश्वस्त किया है कि संस्था पुष्टाहार की किट उनके स्वस्थ होने तक लगातार उपलब्ध कराती रहेगी।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे

Donate Now

[responsive-slider id=1466]
error: Content is protected !!